मृदुला गर्ग की ‘दूसरा चमत्कार’ कहानी की मूल संवेदना : Mridula Garg ki Dusra Chamatkar kahani ki mool samvedna

 ‘दूसरा चमत्कार’ कहानी की मूल संवेदना


प्रश्न: ‘दूसरा चमत्कार’ कहानी में छिपे व्यंग्य पर प्रकाश डालिए।
 अथवा 
‘दूसरा चमत्कार’ कहानी में किन सामाजिक बुराइयों पर प्रहार किया गया है?


उत्तर: दूसरा चमत्कार हिंदी की प्रख्यात लेखिका मृदुला गर्ग की सामाजिक बुराइयों पर आधारित एक अत्यंत महत्वपूर्ण कहानी है। इस कहानी में मृदुला गर्ग ने वर्तमान परिवेश में व्याप्त उन समस्याओं को उठाया है, जो आज हमारे समाज की तरक्की को खाए जा रही हैं। जैसे, गेहूं को घुन खाता है,वैसे ही बेईमानी, मिलावटखोरी, मुनाफाखोरी, भ्रष्टाचार और अंधविश्वास देश की प्रगति को निगलने का काम करते हैं।


आज़ादी के पहले जहां देश विदेशी ताकतों का गुलाम था,वहीं आजादी के बाद देश में अलग प्रकार की नकारात्मक ताकतों ने नया रूप लेकर देश को खोखला बनाना शुरू कर दिया। अशिक्षा,अंधविश्वास और नासमझी ने इन ताकतों को खुराक देने का काम किया।


इस कहानी में समाज के इस मजबूत और असामाजिक गठजोड़ को दिखाते हुए इस पर करारा व्यंग्य किया है। कहानी में एक बड़ा उद्योगपति अपनी चीनी मिल लगाने के लिए बाबा वेशधारी बहुरूपिये का सहारा जिस तरह लेता है, वह यथार्थ और चिंतनीय है। भोली-भाली जनता बाबाओं के चमत्कार के चक्कर में अपना बहुमूल्य समय, श्रम और पैसा खर्च करके देश की उन्नति की रफ्तार कम करती है। बीमार बच्चे की बीमारी एक मजबूर गरीब और धर्मभीरु मां बाबा के चमत्कार से दूर करना चाहती है। बच्चे के लिए चमत्कार ( पोलियो ग्रस्त टांग के लिए नकली टांग) विज्ञान करता है परंतु फ़ायदा मक्कार लोग उठाते हैं। ईमानदार अफसर का चमत्कार के फेर में पड़ जाना भी बड़ी स्वाभाविकता से दिखाया गया है। महिलाओं की धर्मभीरु प्रवृत्ति पर कहानी प्रकाश डालती है कि किस तरह अशिक्षा और कंडिशनिंग उनकी चेतना पर कब्जा कर लेती है। 


कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि नेता,व्यापारी,सरकारी अफसर और ढोंगी बाबाओ के असामाजिक गठजोड़ के साथ-साथ भोलीभाली जनता की अंधश्रद्धा की पोल कहानी में बड़ी ख़ूबसूरती से खोली गई है। कहानी बताती है कि शिक्षा और वैज्ञानिक सोच के अभाव में लोग हाथ की सफाई को भी चमत्कार समझ लेते हैं, जिसका फायदा चंद लोग, मतलबपरस्त व्यापारी और साधु वेशधारी उठाते हैं और हर बार ठगी जाती है भोली भाली जनता।


कहानी के बारे में और विस्तार से जानने-समझने के लिए कृपया नीचे दिए गए हमारे यूट्यूब लिंक्स पर क्लिक करें 👇


Part-1

https://youtu.be/a41bfr6EO6c?si=rOIp6DeeENMxsE5t


Part-2

https://youtu.be/6ghEPuIf7FU?si=e1bYcmazCVxnpC8o


Part-3

https://youtu.be/bjwhvlQ04hE?si=Iqbv0bx7Xy19Tkx6


Part-4

https://youtu.be/WE2_U2XWMXg?si=4LdeyTxom04NQf8N


Part-5

https://youtu.be/1Lya69UJ_Uw?si=4C2A_HVRlu7fFtlP



© डॉ. संजू सदानीरा 

Leave a Comment